विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस पर जागरूकता शिविर आयोजित

    0
    15

    प्रयागराज | विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस पर सोरांव प्रखंड में जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किया गया | कार्यक्रम के मुख्य अतिथि विधायक सोरांव डॉ जमुना सरोज और अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी एवं गैर संचारी रोग प्रकोष्ठ के नोडल अधिकारी डॉ वी के मिश्रा ने इस अवसर पर मानसिक स्वास्थ्य जागरूकता, मूल्यांकन व प्रमाणन शिविर का उद्घाटन किया |.

    इस अवसर पर डॉ जमुना सरोज ने कहा कि अग्रिम मानसिक स्वास्थ्य के समर्थन की आवश्यकता पर जोर दिया जाये जहां लोग अन्धविश्वास और गरीबी का सामना कर रहे हैं | ऐसे में मानसिक स्वास्थ्य को महत्वपूर्ण बनाना कुछ समय के लिए एक दूर का लक्ष्य प्रतीत होता है लेकिन हमे इस लक्ष्य को प्राप्त करना ही हैं ताकि एक स्वस्थ समाज स्थापित हो सके | इसके लिए जरूरी है कि हम हर दिन को विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस के रूप में मनाएं |

    डॉ विवेक कुमार मिश्रा ने कहा कि प्रयागराज का जिला स्वास्थ्य विभाग विश्व स्वास्थ्य संगठन और सरकार की इच्छा के अनुसार सभी को मानसिक स्वास्थ्य प्रदान करने के लिए अथक प्रयास कर रहा है। उन्होंने कहा कि मानसिक स्वास्थ्य कार्यक्रम हर दिन को विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस के रूप में मना रहा है और दैनिक आधार पर जागरूकता और उपचार संबंधी गतिविधियाँ कर रहा है ताकि लोग जागरूक हो सके |

    जितेंद्र प्रसाद राष्ट्रीय सचिव ने जिला स्वास्थ्य विभाग और प्रयागराज की मानसिक स्वास्थ्य कार्यक्रम टीम की हजारों लोगों को लाभान्वित करने वाली अद्भुत आउटरीच की गतिविधियों की सराहना की ।
    मनोचिकित्सक डॉ राकेश पासवान ने मानसिक स्वास्थ्य में सुधार के कारकों को बताया | उन्होंने मानसिक स्वास्थ्य को महत्वपूर्ण बताते हुए उस पर भी विशेष ध्यान देने की बात कही | शिविर में आने वाले मरीजों के लिए सीएचसी सोरांव के अधीक्षक डॉ विजय पांडेय व अन्य स्टाफ के साथ मिलकर विभिन्न आवश्यक दवाएं उपलब्ध कराईं। मनोचिकित्सक सामाजिक कार्यकर्ता जयशंकर पटेल ने बताया कि मानसिक स्वास्थ्य के लिए परिवार सहायता प्रणाली बहुत महत्वपूर्ण है।
    नैदानिक मनोवैज्ञानिक डॉ ईशान्य राज ने शिविर में आये लोगो का परिक्षण कर किया साथ ही स्वास्थ्य विभाग की ओर से मानसिक दिवंगता प्रमाणपत्र भी दिया गया । इस कार्यक्रम में बीडीओ सोरांव व अन्य प्रखंड अधिकारियों ने सक्रियता से भाग लिया. इस कार्यक्रम में कई सम्मानित व्यक्ति उपस्थित थे और सक्रिय रूप से भाग लिया।

    रविनंदन प्रबंधक हेमंत डिग्री कॉलेज ने किशोरों और छात्रों में मानसिक स्वास्थ्य के महत्व पर बल दिया। उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्र और दूरस्थ क्षेत्र में भी मानसिक स्वास्थ्य सेवाओं की आसान उपलब्धता होनी चाहिए। प्रवीण तिवारी, डॉ शिववर्धन सोनी, डॉ एम के सरोज, डॉ अखिलेश गुप्ता, शिबहादुर सरोज, सुभाष पटेल आईटी सेल, रमेश पटेल, दिनेश पासी महासचिव और राजकुमार सरोज मुख्य रूप से उपस्थित थे।

    इस कार्यक्रम में लगभग एक हज़ार लोगों ने सक्रिय रूप से भाग लिया और लगभग पांच सौ लोगों का मानसिक स्वास्थ्य और अन्य बीमारियों का मुफ्त इलाज किया गया। लगभग 60 लोग जो कि मानसिक रूप से अक्षम थे उन्हें मौके पर ही दिव्यांगता प्रमाण पत्र दिया गया. कार्यक्रम में विधायक प्रतिनिधि संतोष पटेल एवं मान सिंह सरोज ने सरकार की महत्वपूर्ण जानकारी देकर कार्यक्रम में अपना योगदान दिया.| इस कार्यक्रम का संचालन नैदानिक मनोवैज्ञानिक डॉ ईशान्य राज ने किया।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here