इत्तेफाक़

0
344

इत्तेफाक़

इत्तेफाक़

….

आखिर क्या है यह इत्तेफाक़ ?
किस्मत का लिखा हुआ कहे या भगवान का लिखा हुआ क्योंकि इत्तेफाक़ एक ऐसी चीज है जोकि ना चाह कर भी वह चीज करवा देती है जिसे आप सोच भी नहीं रहे होते हैं ना समझ रहे होते है l

इत्तेफाक़ से किसी के दिल के तार.. जुड़ जाते हैं तो इत्तेफाक़ से कहीं लोगों की नौकरियां लग जाती हैं

अगर बेमन से कोई काम किया जा रहा है तो अक्सर लोग यही कहते हैं कि बेमन से किया हुआ काम हमेशा बन जाता है लेकिन बहुत से लोग यह भी कहते हैं कि यहां सिर्फ इत्तेफाक़ की बात हैl

इत्तेफाक़ से बिगड़े हुए काम बन जाते हैं तो कहीं इत्तेफाक़ से बनने वाले काम भी बिगड़ जाते हैं l

इत्तेफाक़ से दो लोगों के बीच में हुई बातें कहीं और….काम आ जाती है…
या यूं कहें कि दो लोगों का काम कोई तीसरा आकर इत्तेफाक़ से कर देता है

इत्तेफाक़ से पेड़ पर लगा फल किसी के सर पर गिर जाता है तो कहीं इत्तेफाक़ से हर वो शक्स मिलने चला आता है जिसे किस्मत में मिलना लिखा होता है।

इत्तेफाक़ एक अजीब सा मेहमान है जिसे बिन बुलाए मेहमान भी कहा जा सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here