बाढ़ के बाद घटते जलस्तर से संक्रामक बिमारियों का खतरा बढ़ा

0
24

प्रयागराज : बारिश में बुखार, खांसी, जुकाम समेत कई समस्याएं होती हैं। इसको बिल्कुल भी नजरअंदाज न करें और नजदीकी सरकारी स्वास्थ्य केंद्र जाकर परामर्श और दवा लें। जरा सी लापरवाही नुकसान दे सकती है। इसलिए ऐसे में सावधान रहने की एवं मच्छरों से बचाव करना जरूरी है।

जिला मलेरिया अधिकारी आनंद सिंह ने कहा कि जनपद में डेंगू के केस मिलने शुरू हो गए हैं और अभी तक 8 डेंगू के मरीज मिले थे जिसमे से 7 स्वस्थ हो गए हैं और एक मरीज अभी इलाज चल गैर सरकारी संस्थान में चल रहा हैं | उन्होंने कहा कि किसी भी दिक्कत में हमें खुद से इलाज नहीं करना हैं एवं , अपशिक्षित चिकित्सक के पास जाना भी नुकसानदायक हो सकता है। हर संचारी रोग की समय से पहचान और शीघ्र इलाज से लोग स्वस्थ हो जाते हैं। उन्होंने बताया कि लोगों को इस समय मच्छरों से बचाव करना जरूरी है। जैसे जैसे बाढ़ का पानी घट रहा हैं वैसे वैसे बिमारियों का खतरा भी बढ़ रहा हैं मच्छरों से बचाव के लिए मच्छरदानी के इस्तेमाल, घरों के भीतर साफ-सफाई, हाथों की स्वच्छता, पौष्टिक भोजन के सेवन, चूहा, छछुंदर से घर को मुक्त करना, साफ़ पीने के पानी का इस्तेमाल, पानी का क्लोरिनेशन कर इस्तेमाल, मॉस्क के उपयोग, दो गज की दूरी जैसे नियमों को मानना आवश्यक हैं ।

उन्होंने बताया कि इस दौरान, डेंगू, मलेरिया, कोविड-19 जैसे विभिन्न प्रकार के संचारी रोगों के प्रति जनजागरूकता के जरिये रोकथाम किया जा सकता हैं विभाग द्वारा जागरूकता के साथ साथ लार्वा का छिड़काव, गढ्डे की साफ़ सफाई दवा छिडकाव कराया जा रहा हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here