आजादी की 75 वीं वर्षगांठ के अवसर पर “आजादी का अमृत महोत्सव” का आग़ाज़

0
607

लखनऊ : डॉ राम मनोहर लोहिया विधि विश्वविद्यालय के तत्वाधान में आजादी की 75 वीं वर्षगांठ के अवसर पर “आजादी का अमृत महोत्सव” बहुत ही हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। इस मौके पर “राष्ट्रधर्म एवं राष्ट्रवाद” विषय पर विशेष संगोष्ठी का बहुत ही सफल आयोजन किया गया। यह आयोजन विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर डॉ. एस. के. भटनागर की अध्यक्षता में संपन्न हुआ । इस अवसर पर डॉ. ए. पी. सिंह, डॉ. अलका सिंह, डॉ. कुलवंत सिंह, डॉ. वैदुर्य जैन, डॉ. सुमेधा द्विवेदी, सुश्रीभव्या अरोड़ा, सुश्री शिवांगी तिवारी, सुश्री स्वर्णा यति, ने अपने विचार व्यक्त किए ।

 

कुलपति महोदय प्रोफेसर एस. के. भटनागर जी ने संविधान के प्रस्तावना की चर्चा करते हुए उसके महत्व पर प्रकाश डाला एवं राष्ट्र धर्म को संविधान धर्म के समकक्ष रखते हुए संविधान पालन के महत्त्व पर जोर दिया। प्रोफेसर ए. पी. सिंह जी ने राष्ट्रधर्म एवं राष्ट्रवाद के गुण बिंदुओं पर चर्चा की। इस कार्यक्रम का संचालन मिलिंद राज आनंद जी ने सफलतापूर्वक किया। उन्होने देश में मनाए जा रहे आज़ादी की ७५ वें वर्षगांठ के परिपेक्ष्य में अमृत महोत्सव पर राष्ट्रवाद की भावना के गौरवशाली इतिहास पर भी चर्चा की। यह कार्यक्रम डॉ. अलका सिंह , शिक्षक, डॉ राम मनोहर लोहिया राष्ट्रीय विधि विश्व विद्यालय लखनऊ के निर्देशन में सफलतापूर्वक आयोजित हुआ। उन्होंने सभी का आभार व्यक्त करते हुए नागरिक कर्तव्यो के विषय पर समसामयिक कविता का पाठ भी किया। कुलसचिव, श्री अनिल मिश्रा जी ने सभी आगंतुकों को अमृत महोत्सव की शुभ कामनाएं एवं बधाई दी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here