फाईलेरिया की चेन तोड़ने के लिए दवा का सेवन जरुरी : डॉ दीपा

0
78

प्रयागराज : जनपद में 12 जुलाई से फाईलेरिया उन्मूलन कार्यक्रम चल रहा हैं यह कार्यक्रम प्रदेश के 12 जनपद में चलाया जा रहा हैं | जिसके तहत सभी व्यक्तियों को दवा का सेवन कराया जा रहा हैं |फाईलेरिया एक खतरनाक बीमारी हैं जो लम्बे समय व्यक्ति के शरीर मे बिना किसी लक्षण के रहती है और काफी समय बितने के बाद ही पता चलती हैं ।इसमें व्यक्ति का जीवन अत्यंत ही पीड़ा दायक हो जाती है एवम कार्य करने की क्षमता खत्म सी हो जाती है। फाइलेरिया से पीड़ित व्यक्ति मृत व्यक्ति के सामान हो जाता है जिसकी रोकथाम के लिए यह अभियान चलाया जा रहा है जिसकी की प्रगति जानने के लिए समीक्षा बैठक की गयी |

समीक्षा बैठक अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. सत्येन राय की अध्यक्षता में चिकित्साधिकारी सभागार में संपन की गयी | बैठक में भारत सरकार की ओर से आये विशेषज्ञ डॉ. दीपा नवीन डॉ. रोहित गर्ग , मिलिंडा गेट्स फाउंडेशन के कंट्री हेड डॉ. भूपेन्द्र त्रिपाठी ने आई.डी.ए कार्यक्रम की प्रगति को जाना | बैठक में नगरीय क्षेत्र में आ रही समस्याओं के बारे में विस्तारपूर्वक चर्चा की गयी | जिसमे नगरीय क्षेत्र में दवा दवा सेवन से इंकार करने वालों की अलग सूची तैयार करने को कहा गया । उन्होंने कहा कि अभियान में आ रही परेशानियों को चिन्हित कर आशा, आंगनबाड़ी व सुपरवाईजर को पुनः प्रशिक्षित किया जाए | साथ ही उन्होंने कहा की ऐसे लोगों जो दवा से इंकार कर रहे हैं उनकी सूची तैयार कर सहयोग में लगी संस्था के लोग उनका संवेदीकरण करे तथा मोहल्लो के प्रभावशाली व्यक्तियों से सहयोग लें तथा स्तनपान करा रही माता भी इस दवा का सेवन अवश्य करें |

जिला मलेरिया अधिकारी आनंद सिंह ने कहा अभियान को सफल बनाने के लिए निरंतर समीक्षा की जा रही हैं तथा आवश्यकता अनुसार फ्रंटलाइन वर्कर को सहयोग भी दिया जा रहा हैं |उन्होंने कहा कि अभियान तभी सफल होगा जब सभी लक्षित व्यक्ति दवा का सेवन करेगा | बैठक में डब्लू.एच.ओ, पाथ, पी.सी,आई, सभी नगरीय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र से प्रभारी चिकित्साधिकारी फार्मासिस्ट बी.बी.डी के स्टाफ उपस्थित रहें |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here