मिशन शक्ति 3.0 : आयोजित किया गया मेगा इवेंट ‘रक्षा उत्सव’

0
43

कौशाम्बी | प्रदेश में महिलाओं तथा बच्चों की सुरक्षा, सम्मान एवं स्वालंबन के लिए मिशन शक्ति 3.0 के अन्तर्गत इस माह से दिसम्बर तक की कार्ययोजना तैयार कर कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा हैं | इसी क्रम में वृहस्पतिवार को उदयन सभागार में मेगा इवेंट रक्षा उत्साह कार्यक्रम आयोजित किया गया | कार्यक्रम में जिलाधिकारी सुजीत कुमार , जिला विकास अधिकारी शशिकांत त्रिपाठी एवं विभागीय अधिकारीगण उपस्थित रहे |

मुख्य अतिथि जिला पंचायत अध्यक्ष कल्पना सोनकर ने कार्यक्रम का शुभारम्भ किया | जिला विकास अधिकारी शशिकांत त्रिपाठी ने बताया कि मिशन शक्ति के अंतर्गत समय-समय पर ऐसे कई कार्यक्रम चलाए जाते हैं जिससे महिलाएं जागरूक हो सकें | यह जागरूकता कार्यक्रम मुख् रूप से उन स्थानों पर करने चाहिए जहां पर सचमुच जागरूकता की जरूरत है|

मिशन शक्ति के अंतर्गत महिला कल्याण अधिकारी पूनम पाल ने महिलाओं को अपने ऊपर हो रहे अत्याचार के विरुद्ध लड़ने तथा अपने आप को कैसे आगे बढ़ाया जाए आदि के बारे में जानकारी दी | उन्होंने कहा कि महिला अबला नहीं आज के समय में सबला हैं जो हर परिस्थिति में मजबूत बनेगी |

जिला प्रोबेशन अधिकारी राजनाथ राम ने बताया कि मिशन शक्ति 3.0 कार्यक्रम का आयोजन पूरे उत्साह के साथ किया जा रहा हैं और इसी क्रम में आज मेगा इवेंट ‘रक्षा उत्सव’ मनाया जा रहा हैं | महिलाओं को स्वालंबी और सक्षम बनाने और उनकी अपनी पहचान बने इसके लिए सरकार निरंतर प्रयास कर रही हैं | उन्होंने कहा कि जनपद में हर स्तर पर महिलाओं व बच्चों को जागरूक किया जा रहा हैं | साथ ही उनके बेहतर कार्यों के लिए सम्मानित भी किया जा रहा हैं | इसी के तहत मेगा इवेंट ‘रक्षा उत्सव’ में आज 75 महिलाओं को मुख्य विकास अधिकारी के द्वारा अच्छे कार्यभार का प्रशस्ति पत्र देकर उन्हें सम्मानित किया गया |

जिला समन्वयक उमा साहू ने बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ के अंतर्गत बताया कि बेटों की तरह बेटियां भी समाज का एक अभिन्न अंग है | उन्होंने कहा कि मेगा इवेन्ट रक्षा उत्सव के अन्तर्गत हाट-बाजार आदि सार्वजनिक स्थानों पर कार्यक्रमों का आयोजन कर जन-सामान्य को जागरूक किया जाये तो अच्छे परिणाम मिलेंगे । ‘बेटियों से पहचान -नारी सम्मान’ थीम पर समस्त स्तरों (ग्राम/ब्लाक/जनपद) पर जनजागरूकता कार्यक्रम का आयोजन कर परिवारों तथा दुकानदारों आदि को जागरूक भी करें ताकि वह अपने घरों व दुकानों को अपने परिवार की महिलाओं  बेटियों के नाम से पहचान दें ।

उन्होंने विभाग से संचालित नई योजनाओं के बारे में बताया कि शिक्षा विभाग, स्वास्थ्य विभाग, राजस्व विभाग, बाल विकास एवं पुष्टाहार विभाग, पंचायती राज विभाग ने अपने विभाग से जुड़ी जानकारी तथा कार्यों के बारे में जानकारी दी तथा इस अवसर पर वह महिला कर्मचारी भी उपस्थित रहीं, जिन्होंने अपने कार्य से अपनी पहचान बनाई है |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here