शपथ दिलाकर किया गया राष्ट्रीय स्पर्श कुष्ठ जागरूकता अभियान की शुरुवात

0
62

कौशाम्बी: कुष्ठ रोग उन्मूलन को लेकर स्वास्थ्य विभाग संजीदा है और समय-समय पर अभियान चलाकर कुष्ठ रोगियों की पहचान कर उनका निशुल्क इलाज भी कराया जाता है। इसी क्रम में राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन योजना के अंतर्गत जनपद में 30 जनवरी शुरू होकर 13 फरवरी 2021 तक स्पर्श कुष्ठ जागरूकता अभियान चलाया जाएगा।  सभी ब्लाक में शपथ समारोह के साथ इसकी शुरु की गयी।

जागरूकता अभियान चलाया जा रहा

इस दौरान स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी एवं आशा द्वारा कुष्ठ रोग के प्रति लोगों को जागरूक किया जायेगा ताकि इस रोग की चपेट में आने से लोगों को बचाया जा सके। जिला कुष्ठ अधिकारी डॉ आशाराम ने बताया कि राष्ट्रीय कुष्ठ उन्मूलन कार्यक्रम के अंतर्गत जिले में कुष्ठ रोगियों के खोजने का अभियान 30 जनवरी से 13 फरवरी 2021 तक चलाया जाएगा । जनपद के सभी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों तथा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर जांच की समुचित व्यवस्था उपलब्ध कराई गई है । उन्होंने बताया कि यह कुष्ठ रोग के उस विरुद्ध आखरी युद्ध है इस रोग के सफाई को लेकर स्पर्श कुष्ठ जागरूकता अभियान चलाया जा रहा हैं ।

निशुल्क उपचार कराया गया

इस अभियान में स्वास्थ्य विभाग सहित आशा, एएनएम को लगाया गया है जो घर-घर जाकर लोगों को इस रोग के प्रति एक तरफ जहां जागरूकता किया जाएगा वहीं पिछले तीन वर्षो में जिन ग्रामसभा में इसके रोगी मिले हैं उन्ही गावं में घर घर जाकर रोगियों की पहचान कर उनका इलाज कराया जाएगा । उन्होंने ने बताया कि वर्ष 2020 में 13 फरवरी से 28 फरवरी 2019 तक चलाए गए अभियान में 58 रोगी पाए गए थे जिनका निशुल्क उपचार कराया गया था।

कुष्ठ रोग होने का कारण

यह रोग माइक्रो बैक्टीरिया लेप्रे नामक जीवाणु द्वारा फैलता है । यह छुआछूत की बीमारी नहीं है और यह लोगों के साथ खाने पीने उठने बैठने सोने या हाथ मिलाने से नहीं फैलता है।

यह है कुष्ठ रोग के लक्षण

शरीर के चमड़ी पर हल्के रंग का समतल या उभरा हुआ दाग,चमड़ी का वह भाग जिसमें सूनापन हो, दाग चकत्ता जिसमें पसीना न आता हो, हाथ पैर के नसों में मोटापन, सूजन तथा झनझनाहट तथा हाथ एवं पैर के तलवे में सूनापन, हाथ और पैर में अपने आप छालों का पडना, हाथ पैर की उंगलियों में टेढ़ापन तथा हाथ एवं पैर से पूरी क्षमता से काम ना हो पाना यह कुष्ठ रोग का लक्षण है। कुष्ठ रोग से डरने की आवश्यकता नहीं है यह एक सामान्य रोग है जो एमडीटी की दवा खाने से पूरी तरह से ठीक हो जाता है। यदि किसी को कुष्ठ रोग की शंका हो तो नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र पर जाकर जांच करवा सकते हैं इसका पूरी तरह से निशुल्क इलाज किया जाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here