स्वास्थ्य सेवाओं को समुदाय तक पहुंचाना हमारी प्राथमिकता : सीएमओ

0
21

कौशांबी । जिले में स्वास्थ्य सेवाओं को और बेहतर बनाने के लगातार प्रयास किये जा रहे हैं । परिवार कल्याण कार्यक्रम को गति देने के लिए जिला स्तर पर टीम बनाकर काम किया जा रहा है । इसी कड़ी में पहला परिवार कल्याण शिविर मंगलवार को सराय आकिल में किया जा रहा है । आगे भी हर महीने एक – एक कैंप ब्लाक स्तर पर आयोजित किये जायेंगे । यह बात मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. कमल चन्द्र राय ने सीएमओ कार्यालय स्थित सभागार में मंगलवार को सेंटर फॉर एडवोकेसी एंड रिसर्च (सीफार) के माध्यम से आयोजित स्वास्थ्य संचार सुदृढ़ीकरण पर आयोजित मीडिया कार्यशाला के दौरान कहीं ।

इस अवसर पर सीएमओ ने कहा कि कोविड की संभावित तीसरी लहर को लेकर जिले में हर मुकम्मल व्यवस्था की गयी है, चार आक्सीजन प्लांट चालू हो गये हैं । एक प्लांट का उप मुख्यमंत्री द्वारा शुभारम्भ भी किया जा चुका है । जिला अस्पताल में भी आक्सीजन प्लांट चालू किया गया है । उन्होंने कहा कि सीफार द्वारा स्वास्थ्य योजनाओं के बारे में ज्यादा से ज्यादा जानकारी जनसमुदाय तक पहुंचाने के सराहनीय प्रयास किये जा रहे हैं । संस्था स्वास्थ्य विभाग और मीडिया के बीच सेतु का काम कर रही है । मीडिया कार्यशाला का आयोजन स्वास्थ्य संचार सेवाओं को सुदृढ करने में मील का पत्थर साबित होगी ।

कार्यशाला में मातृ-शिशु स्वास्थ्य पर प्रस्तुतिकरण किया गया । जिला कार्यक्रम प्रबंधक ओम प्रकाश राव ने मातृ और शिशु मृत्यु दर को कम करने को लेकर किये जा रहे प्रयासों के बारे में जानकारी दी । उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य सेवाओं को लेकर अभी जनता में जागरूकता की कमी है, जिसे दूर करने के लिये लगातार कार्यक्रम आयोजित किये जा रहे हैं । आशा कार्यकर्ता गांव-गांव भ्रमण कर दंपति का सर्वे करने में जुटी हैं । जननी सुरक्षा योजना के अंतर्गत सुरक्षित संस्थागत प्रसव कराये जा रहे हैं । शनिवार और बुधवार को टीकाकरण सत्र का आयोजन किया जाता है।

इसके अलावा प्रत्येक माह की नौ तारीख को प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान (एचआरपी सत्र) दिवस में हाई रिस्क प्रेगेंसी की जांच होती है । कुपोषित बच्चों को सुपोषित करने के लिये पोषण पुनर्वास केंद्र (एनआरसी) काम कर रहा है । यह दस बेड का वार्ड है । इस दौरान राष्ट्रीय किशोर स्वास्थ्य कार्यक्रम, राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम, परिवार कल्याण कार्यक्रम, प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना, एंबुलेंस सर्विसेंज, राष्ट्रीय कार्यक्रम में क्षय रोग, कुष्ठ रोग और अंधता निवारण कार्यक्रम के बारे में बताया गया । आयुष्मान भारत कार्यक्रम पर बताया कि जिले में 16 अस्पताल सम्बद्ध हैं । इस योजना के अंतर्गत लाभार्थी परिवार को पांच लाख रूपये का मुफ्त इलाज मिलता है ।

एसीएमओ आरसीएच एवं जिला कुष्ठ रोग अधिकारी डा. ए. आर. प्रसाद ने बताया कि जनपद में दिव्यांगता दर कम है । इस क्षेत्र में भी गांव स्तर पर काम किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि कुष्ठ रोगियों का इलाज की यहाँ बहुत अच्छी व्यवस्था है । मरीजों को चिन्हित कर इलाज किया जाता है। डिस्ट्रिक्ट कोविड सर्विलांस अफसर डा. यश अग्रवाल ने कोविड के बारे में जानकारी दी । उन्होंने बताया कि पहली और दूसरी लहर में 4416 पाजिटिव मिले हैं, मौजूदा समय में जनपद मे कोई भी एक्टिव केस नहीं है ।

आरटीपीसीआर, ट्रू नाट रैपिड एंटीजन टेस्ट से 648134 जांच हुई हैं । पहली लहर में प्रवासियों और दूसरी लहर में घर-घर सर्विलेंस के माध्यम से परीक्षण किया गया है। जिले में कंटेनमेंट जोन 1695 रहे हैं लेकिन मौजूदा समय में केवल एक कंटेनमेंट जोन एक्टिव है। भारत सरकार की गाइड लाइन के तहत टेस्टिंग, ट्रैकिंग, आइसोलेशन, ट्रीटमेंट, वैक्सीनेशन से कोविड को समाप्त किया जा रहा है । भारत सरकार द्वारा कोविड पोर्टल में कोई भी व्यक्ति आनलाइन पंजीकरण करा सकता है और वैक्सीनेशन के बाद प्रमाण पत्र भी प्राप्त कर सकता है।

कार्यक्रम का संचालन डीपीएम ओपी राव ने किया । इस मौके पर सीफार के स्टेट प्रोजेक्ट मैनेजर शशिधर द्विवेदी, सीनियर मंडल समन्वयक इलाहाबाद एवं मिर्जापुर प्रीती सैनी, जिला समन्वयक फतेहपुर मनभावन अवस्थी, मिर्जापुर के विकास तिवारी, सोनभद्र के ब्रजेश शुक्ला ने अतिथियों को प्रतीक चिन्ह भेंटकर स्वागत किया । इस मौके पर डीसीपीएम संजय कुमार, मातृ स्वास्थ्य सलाहकार आकाश दीप, डिस्ट्रिक्ट कोआर्डिनेटर आयुष्मान भारत डा. ओम त्रिपाठी, क्वालिटी कंसल्टेंट डा. हसनैन, शहरी स्वास्थ्य समन्वयक सिबली रजा अंसारी, सीफार के राहुल आर्य, श्रवण शर्मा आदि मौजूद रहे ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here