घर-घर दस्तक देकर क्षय रोगियों की हो रही पहचान

0
34

प्रयागराज, 23 जुलाई 2021 : दस्तक अभियान के तहत घर-घर जाकर क्षय रोगियों (टीबी) की भी पहचान की जा रही है | वर्ष 2025 तक देश को क्षय रोग से मुक्त करने के संकल्प को पूरा करने के तहत यह कदम उठाया जा रहा है | समुदाय की भागीदारी को बढ़ाने के लिए यह नई व्यवस्था की गई है। सक्रिय क्षय रोगी की सूचना देने पर 500 रुपये की प्रोत्साहन राशि भी दी जायेगी |

जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ. ए.के तिवारी ने बताया कि जिले में विशेष संचारी रोग नियंत्रण माह एक से 31 जुलाई तक चलाया जा रहा है | इसी के तहत 12 से 25 जुलाई तक दस्तक अभियान भी चलाया जा रहा है, इस दौरान क्षय रोगियों को खोजा जा रहा है। अभियान के सभी कार्यकर्ता आशा व आंगनबाड़ी को इस बारे में प्रशिक्षण दिया गया हैं | कोरोना प्रोटोकाल का पालन करते हुए कार्यकर्ता घर-घर जाकर स्क्रीनिग कर रही हैं । संभावित रोगियों की टीबी जांच कराई जाएगी और पुष्टि होने पर नि:शुल्क उपचार की व्यवस्था है। पोषण योजना के तहत मरीजों को पोषण युक्त खानपान के लिए इलाज के दौरान प्रतिमाह पांच सौ रुपये बैंक खाते में दिए जा रहे हैं ।

पी.पी.एम को-ऑर्डिनेटर धीरेन्द्र प्रताप सिंह ने बताया – दस्तक अभियान के अंतर्गत 12 जुलाई से टीबी मरीजों को खोजने के लिए विशेष अभियान की शुरुआत हुई, जिसमें 453 संभावित लोगों की स्क्रीनिग की गई जिसमे से 376 के बलगम जाँच के लिए भेजे गए हैं और पॉजिटिव पाए गए 66 मरीजों में से 63 मरीजों का इलाज शुरू कर दिया गया हैं | पोषण राशि हेतु 61 मरीजो का निक्षय पोर्टल पर एंट्री कर दी गयी हैं | बचे तीन मरीजो का इलाज भी जल्द शुरू कर दिया जायेगा |

क्षय रोग के लक्षण
– दो सप्ताह या अधिक समय तक खांसी आना
– खांसी के साथ बलगम आना और बलगम में कभी-कभी खून आना
– सीने में दर्द होना, शाम को हल्का बुखार आना, वजन कम होना और भूख न लगना

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here