प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना का लाभ पाने को अपडेट कराएँ बैंक केवाईसी 

0
19
प्रयागराज: पहली बार गर्भवती होने वाली महिलाओं को प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना का लाभ लेने के लिए अपने बैंक खाते की केवाईसी करानी होगी । केवाईसी अपडेट होने पर ही खाते में योजना की राशि भेजी जाएगी ।
अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. सत्येन राय ने बताया कि भारत सरकार की  यह महत्वाकांक्षी योजना एक जनवरी 2017 से शुरू की गई थी । इस योजना के तहत पहली बार गर्भवती होने पर बेहतर स्वास्थ्य देखभाल व पोषण के लिए  पांच  हजार रुपये तीन किस्तों में गर्भवती के खाते में दिए जाते हैं। पहली किस्त एक  हजार की गर्भधारण के 150 दिनों के अंदर पंजीकरण कराने पर व दूसरी किस्त में दो  हजार रुपये 180 दिनों के अंदर एवं दो  हजार की तीसरी किस्त प्रसव पश्चात व शिशु के प्रथम चक्र के टीकाकरण पूरा होने पर मिलते हैं ।
जिला कार्यक्रम प्रबंधक विनोद सिंह  ने बताया कि बीते दिनों कुछ राष्ट्रीय कृत बैंकों का विलय हुआ है। इसके चलते बैंकों के आईएफएससी कोड बदल गए हैं । योजना के बहुत से लाभार्थियों को भुगतान संबंधित परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है । योजना के लाभार्थियों को चाहिए कि वह अपने बैंक खाते की केवाईसी करा लें, यह भी जरूरी है कि नए आईएफएससी कोड की जानकारी स्वास्थ्य विभाग स्तर पर दर्ज करा दें, जिससे लाभार्थियों के खाते में योजना की रकम भेजी जा सके। समस्या होने पर लाभार्थी राज्य स्तर पर जारी हेल्पलाइन नंबर 7998799804 पर भी मदद ले  सकते है। उन्होंने बताया कि जिले में अब तक योजना के तहत करीब 1.13 लाख  महिलाओं का पंजीकरण कर योजना का लाभ दिया जा रहा है।
प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना का लाभ लेने के लिए प्रथम बार गर्भ धारण करने वाली पात्र महिला लाभार्थी राज्य स्तर से जारी हेल्पलाइन नंबर 7998799804 व क्षेत्रीय आशा एवं एएनएम से संपर्क कर  योजना के तहत पंजीकरण कराकर योजना का लाभ उठाएं।  प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना का उद्देश्य गर्भावस्था, प्रसव और स्तनपान के दौरान महिलाओं को जागरुक करना और जच्चा-बच्चा देखभाल और संस्थागत सेवा के उपयोग को बढ़ावा देना है । महिलाओं को पहले छह महीनों के लिए प्रारंभिक और विशेष स्तनपान और पोषण के लिए प्रोत्साहित करना। गर्भवती और स्तनपान कराने वाली माताओं को बेहतर स्वास्थ्य और पोषण के लिए बैंक द्वारा नकद प्रोत्साहन राशि प्रदान करना। आवेदन के लिए जरुरी दस्तावेज आधार कार्ड की फोटोकॉपी, बैक या पोस्ट ऑफिस खाता की पासबुक आधार नंबर होने पर पहचान संबंधी अन्य विकल्प पीएचसी या सरकारी अस्पताल से जारी स्वास्थ्य कार्ड, सरकारी विभाग, कंपनी, संस्थान से जारी कर्मचारी पहचान पत्र जरूरी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here